राशन डीलर कैसे बने | Ration Dealer Apply Online 2023- आवेदन प्रक्रिया

भारत सरकार के माध्यम से जितने भी गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे नागरिक हैं उन्हें और उनके परिवार जनों को एक व्यवस्थित जीवन व्यतीत करने के लिए खाद पदार्थ मुहैया कराया जाता है और उसके साथ ही साथ सरकारी गल्ले की दुकान से उन्हें गेहूं, चावल,चीनी, केरोसिन आदि जैसे खाद पदार्थ सस्ते दरों में देने का कार्य किया जाता है और उन सरकारी गल्ले की दुकानों पर जिन व्यक्ति के द्वारा खाद पदार्थ वितरण होता है उन्हें हम Ration Dealer कहते हैं जोकि सभी सरकारी वितरण प्रणाली को बेहतर तरीके से संचालित करने के लिए जिम्मेवार होता है और सभी लोगों को जोकि गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे है उन्हें राशन मुहैया भी करता है।

Ration Dealer Kaise Bane
Ration Dealer

Ration Dealer Kya Hota Hai?

भारत में लगभग 75% से अधिक आबादी जो है वह छोटे क्षेत्र एवम कस्बों में निवास करती है ऐसे में उन क्षेत्रों में अधिकतर लोग आर्थिक रूप से कमजोर और गरीब वर्ग के होते हैं उन्हीं लोगों को सुविधा प्रदान करने के लिए सरकार राशन की दुकानें खोलकर उन्हें सस्ते एवं कम दरों में खाद पदार्थ मुहैया कराती हैं जिससे उन सभी जरूरतमंद लोगों को राशन वितरण करके आर्थिक सहायता की जा सके जिसके लिए BPL Ration Card भी बनवाया जाता है ऐसे में उन राशन की दुकानों से जिस व्यक्ति के द्वारा राशन वितरण किया जाता है उसे ही हम राशन डीलर(Ration Dealer) कहते हैं जोकि खाद एवं रसद विभाग के द्वारा चयनित होता है और उसकी जिम्मेदारी होती है कि क्षेत्र में जितने भी बीपीएल कार्ड धारक हैं उन्हें पूर्ण रूप से राशन वितरण करवाए।

Ration Dealer का क्या कार्य होता है?

राशन डीलर जो होता है वह किसी भी क्षेत्र में सरकार के द्वारा राशन की दुकान का कोटेदार होता है जो उसके दुकान के अंतर्गत आने वाले सभी क्षेत्रों के बीपीएल कार्ड धारकों को सस्ती एवं कम दरों पर गेहूं, चावल,शक्कर, केरोसिन,तेल प्रदान करता है और इसके साथ ही साथ किसी के Ration Card में संशोधन आदि की प्रक्रिया को पूर्ण कराने में भी सहायता प्रदान करता है तो जिन व्यक्ति का राशन कार्ड नहीं बन पाया है उनके Ration Card बनवाने में भी उनकी मदद करता है यह एक प्रकार का सरकारी एजेंट होता है जो कि सरकार और नागरिक के बीच समन्वय स्थापित करने का भी कार्य करता है।

यह भी पढ़े: मेरा राशन मोबाइल ऐप

Ration Dealer कैसे बनते है?

किसी भी ग्राम पंचायत क्षेत्र में राशन डीलर बनने के लिए कुछ मापदंड एवं पात्रता सरकार की तरफ से निर्धारित की जाती है ऐसे में जो व्यक्ति Ration Dealer बनने के योग्य होता है उसे ही सरकार के द्वारा दुकानों पर नियुक्त किया जाता है तो निम्नलिखित हम आपको राशन डीलर बनने से संबंधित जानकारी बताने जा रहे हैं।

राशन डीलर बनने हेतु योग्यता
  • सरकारी दुकान पर राशन वितरण करने के लिए Ration Dealer बनने हेतु आवेदन कर्ता को न्यूनतम दसवीं की परीक्षा पास करना अनिवार्य है।
  • आवेदन कर्ता की न्यूनतम आयु 21 वर्ष होनी चाहिए।
  • जिस भी ग्राम पंचायत के अंतर्गत आपको राशन डीलर बनना है वहां का नागरिक आपको नही होना चाहिए।
  • आवेदक के Bank Statement से संबंधित खाते में न्यूनतम ₹40000 राशि होनी अनिवार्य है।
  • आवेदन कर्ता के नाम पहले से कहीं किसी राशन की दुकान आवंटित नहीं होनी चाहिए अन्यथा उस का आवंटन रद्द कर दिया जाएगा।
  • यदि किसी आवेदक के पास कंप्यूटर का ज्ञान है तो उसे सबसे पहले राशन की दुकान आवंटित की जा सकती है।
Ration Dealer बनने हेतु महत्वपूर्ण दस्तावेज
  • Aadhaar Card
  • Pan Card
  • Bank Account Details
  • Domicile Certificate
  • Caste Certificate
  • Educational Details
  • Passport Size Photo
  • पुलिस क्षेत्राधिकारी द्वारा जारी किया गया चरित्र प्रमाण पत्र

राशन डीलर बनने के लिए क्या प्रक्रिया होती है?

यदि आप Ration Dealer बनने के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो निम्नलिखित हम आपको उस प्रक्रिया के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं जिससे आप आसानी से राशन डीलर के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको Ration Dealer बनने के लिए अपने जिले के खाद आपूर्ति विभाग पर जा कर वहां से एक Form को प्राप्त करना होगा।
  • यदि आप ऑनलाइन माध्यम से राशन डीलर बनने हेतु PDF Form को Download करना चाहते हैं तो उपरोक्त हम आपको उसके लिंक दर्शा रहे हैं जिसके माध्यम से आप Application Form को प्राप्त कर सकते हैं
  • उसके बाद आपको आवेदन फॉर्म के अंतर्गत सबसे पहले अपनी Basic Details को दर्ज करना होगा जैसे अपना नाम, पता,पिता का नाम आदि।
  • उसके बाद आपको अपने शैक्षणिक योग्यता और जन्मतिथि से संबंधित जानकारी को दर्ज करना होगा।
  • अब आपको राशन की दुकान खोलने के लिए उस स्थान का उल्लेख करना होगा जहां पर आप राशन की दुकान खोलना चाहते हैं।
  • पूरी जानकारियों को विस्तार से भरने के बाद एक बार अवश्य चेक कर लें क्योंकि यदि किसी भी प्रकार की त्रुटि मिलती है तो आपके Application Form को अस्वीकार कर दिया जाएगा।
  • अब आपको अपने उस आवेदन फॉर्म के साथ अपने सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को संलग्न कर लेना होगा।
  • उसके बाद आपको अपने क्षेत्र के मंडल पदाधिकारी/खंड विकास अधिकारी के पास जाकर आवेदन फॉर्म को जमा कर देना होगा।
  • जिसके बाद जिला स्तरीय चयन समिति के द्वारा Ration Dealer(राशन डीलर) बनने के लिए आए हुए सभी फॉर्म की जांच की जाती है।
  • जिसके बाद यदि आपकी सारी जानकारियां सही पाई जाती है तो आपको आपके क्षेत्र में राशन डीलर बनने के लिए लाइसेंस प्रदान कर दिया जाता है।

राशन डीलर से संबंधित कुछ सवाल और जवाब (FAQs)

एक राशन डीलर का वेतनमान कितना होता है?

यदि राशन डीलर के वेतनमान की बात करें तो एक राशन वितरण प्रणाली का कोटेदार होता है जो कि सरकार के द्वारा दिए गए राशन पर कमीशन के हिसाब से उसे सैलरी प्रदान की जाती है वह जितना ही ज्यादा महीने में राशन वितरित करेगा उसे उतने ही हिसाब से वेतनमान प्राप्त होगा यदि समान तौर पर देखा जाए तो एक राशन डीलर को महीने का ₹40000 से ₹50000 कमीशन प्राप्त हो जाता है।

राशन की सरकारी दुकान कैसे खोला जाता है?

यदि किसी व्यक्ति को सरकारी राशन की दुकान खोलना है तो उसे खाद विभाग के द्वारा सरकारी दुकान का लाइसेंस प्राप्त करना होगा जिसके बाद ही उसे सरकारी गल्ले की दुकान खोलने की अनुमति प्रदान की जाएगी।

राशन डीलरों को कितना कमीशन प्रदान किया जाता है?

यदि कोई राशन डीलर अपने क्षेत्र में राशन वितरित कर रहा है तो उसे प्रति किलो 70 से 80 पैसे का कमीशन दिया जाता है जिसके बाद जितना ही अधिक व राशन वितरित करेगा उसका कमीशन उतना ही ज्यादा बढ़ता जाएगा।

Leave a Comment